एक नाम हमारा भी होगा

Wrote for a dear friend, who is damn busy that even don’t have time for life

कुछ दोस्त इतने हसीं होते है
वो अजनबी हो जाते है
फिर भी करीब होते है

कई मर्तबा याद कर लेते है हम उनको
वो यादों में भी, कहीं मगशूल होते है

मिलेंगे जल्दी ही, कहते है हमसे अक्सर
जल्दी सालो की, हम नापते रहते है

वक़्त ने कर रखा है, शायद इतना मगशूल
शायद हम, उनकी कतार में, अंतिम कड़ी होते है

कोई नहीं, हम भी जिद्दी है,
पकड़े बैठे है दामन इंतजार का
कभी तो उनके जेहन में
हमारा भी नाम होगा
जब याद ताजा करने का वक़्त होगा
एक नाम हमारा भी होगा

देव

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s