वो झेल नहीं पाएंगे, पल में बिखर जाएंगे

I am sure, as i written many poetries on girls, people will accept this as well and will take this as food foe thought, and won’t create controversy…

लडको को लड़के है रहने दो,
उनके दिलो को इमोशंस से ना भरो,
वो झेल नहीं पाएंगे, बिखर जाएंगे।

कहते है वक़्त बदल गया है,
इक्वालिटी की दुनिया है,
पर अब भी, लडके की खासियत,
उसके बैंक में रखा पैसा है।

हां, उसे घर के काम में हाथ बटाना चाहिए,
उसे खाना बनाना आना चाहिए,
उसका हर पल, प्रियतम को नाम अपने चाहिए,
कमाने का जिम्मा भी, लड़के का होना चाहिए।

इसीलिए कह रहा हूं,
लडको को लड़के है रहने दो,
उनके दिलो को इमोशंस से ना भरो,
वो झेल नहीं पाएंगे, पल में बिखर जाएंगे।।

देव

7 may 2020

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s