जरा दिल पर भी, यकीं कर

मेरे कहने पे ना जा,
वो कर जो, तेरा दिल कहे,
अपनी जिंदगी, तू
अपनी तरह जीले।

जमाना तो यूं ही,
बनाता है किस्से,
मगर ये भी नहीं कहता,
तू मुझ पर यकीं कर।

जद्दोजहद, दिमाग और दिल में,
चलती रहेगी ताउम्र,
इश्क़ का लुत्फ लेना है तो,
जरा दिल पर भी, यकीं कर।।

देव

2 june 2020

Leave a Reply