Random thoughts

[06/06, 1:34 am] Lavya Airtel New:

छोड़ा भी तो उसने, इस मोड़ पर लाकर,
मै कब का कहीं, मुझको भूल गया,
बस याद रहा, तो उसका चेहरा,
मेरा आशियां, कहीं बिखर सा गया।

देव
[06/06, 1:17 pm] Lavya Airtel New:

क्यूं ना करू, बेपनाह मोहब्बत तुझसे,
और क्या है, बचा अब मुझमें,
यूं तो है, सब कुछ पास तेरे,
और क्या है, तुझे जरूरत मुझसे।।

देव
[06/06, 1:20 pm] Lavya Airtel New:

किसी ने हाल ए दिल जान,
यूं ही मशवरा दिया,
देव बाबू, ज्यादा ना सोचा करो,
मैंने कहा, ज्यादा कहा सोचता हूं,
बस, सुबह उठने के बाद से,
सुबह, सोने के पहले तक।।

देव
[06/06, 9:45 pm] Lavya Airtel New:

तेरे झरोखे से, निकलते हाथों को थाम,
गुजरना तुम अपने, जन्मदिन की शाम।।
[08/06, 12:58 am] Lavya Airtel New:

अश्क उसके, यू ही नहीं, है बह रहे,
कहीं ख्वाहिशें तुम्हारी भी है, कर्जदार उसकी।।

देव
[08/06, 1:00 am] Lavya Airtel New:

उसने कब कहा, ख्वाहिश उसकी है,
चाहत है जो तेरी,
उसकी मुस्कान को, ना समझ,
तमन्ना उसकी।।

देव
[08/06, 1:03 am] Lavya Airtel New:

उसके गिरते हुए पल्लू पे,
सवाल करने वाले,
नजर तेरी भी तो,
तेरी आवारगी दिखाती है।।

देव
[08/06, 1:06 am] Lavya Airtel New:

अश्क उसके है, बह जाए, भी तो क्या,
क्या समझेगा, दर्द है या खुशी के है वो,
पाने की ख्वाहिश, लगती है बस तेरी,
तुझे मतलब है बस, हसीं से उसकी।।

देव
[08/06, 1:08 am] Lavya Airtel New:

आज निकल जाने दो, अल्फ़ाज़ सारे मेरे,
क्या पता कल, मेरा जनाजा भी, वीरान गुजरे।।
देव
[08/06, 1:10 am] Lavya Airtel New:

उसकी कहीं, अनकही सब बातें समझता हूं,
वो नहीं आती, मगर, हर पल, मैं उससे मिलता हूं।।

देव
[08/06, 1:12 am] Lavya Airtel New:

बस, यू ही रह गए, अरमान
सिमट कर मेरे,
जैसे जाड़े में, जिंदगी, सड़क पर गुजरती है।।
देव
[08/06, 1:15 am] Lavya Airtel New:

काश! चंद लम्हे ही, लिखे होते,
किस्मत में मेरी, उसके,
बसा कर जेहन में, तस्वीर उसकी,
जिंदगी बसर कर लेता,

देव
[08/06, 1:16 am] Lavya Airtel New:

बेसब्र तो वो भी थी,
थी जब वो करीब मेरे।

देव
[08/06, 1:18 am] Lavya Airtel New:

जेहन भी मेरा, अब कहा रहा मेरा,
हर जगह तो, बसा है, चेहरा तेरा।।
देव
[08/06, 1:19 am] Lavya Airtel New:

अब ना ख्वाहिश कोई, ना अरमान बचा,
वो है बस, अब कुछ और क्या चाहिए।।

देव
[08/06, 1:21 am] Lavya Airtel New:

तेरे आंसुओ को, अब तुझसे मतलब ना रहा,
मेरी खुशियां का, मुझसे ताल्लुक ना रहा।।

देव
[08/06, 1:25 am] Lavya Airtel New:

काश! मिल जाए तुझे, तेरी हर मंजिल,
मेरे रास्ते तो बस, तुझ पर आकर रुकते है।।

देव
[08/06, 1:29 am] Lavya Airtel New:

मेरे चंद लब्जो से,
कहा भरेगा मन तेरा,
तू रानी है, रूपनगर की,
मैं प्रेमनगर का रंक ठहरा।।

देव
[08/06, 1:38 am] Lavya Airtel New:

अब तो बस, यू ही,
बसर होनी है ये जिंदगी,
कुछ वक़्त लिखने में उसे,
कुछ यादों में, गुजरेगा।।

देव
[08/06, 1:42 am] Lavya Airtel New:

कसूर उसका नहीं, कसूर है मेरा,
वो तो बेखबर सी चलती रही,
और हम बे आबरू से।।

देव
[08/06, 1:47 am] Lavya Airtel New:

मेरे जेहन में चलते, सवालातों को,
उसने यू ही नहीं टाला,
अब भी बचा था, उसमे, मेरा लिहाज थोड़ा।।

देव
[08/06, 2:01 am] Lavya Airtel New:

फर्क, फर्क बहुत है, मुझमें और मेरी तकदीर में,
मैं तो आज चाहता हूं, वही वो कल चाहती है।।

देव
[09/06, 5:40 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

जिन्हे अपना समझा,
वो भी गैर निकले,
जो कहते थे अपना,
तमाशबीन निकले।।

देव
[09/06, 6:27 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

ये मोहब्बत नहीं तो क्या है,
जब भी मैंने रुखसत ली,
उसने आवाज भी दी, और,
कुछ कहा भी नहीं।
देव
[09/06, 6:32 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

चंद लम्हे उसने, मुझको,
बातों के क्या दे डाले,
दिल ए नादान, फिर से,
जुस्तजू उसकी, करने लगा।।

देव
[09/06, 6:45 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

कौन उम्र की ख्वाहिश करता है यहां,
जो पल मिले, यारो के साथ मिले।।

देव
[09/06, 6:45 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

आरज़ू मेरी, मोहताज नहीं, जमाने की,
ख्वाहिश मुझको नहीं, है उसे पाने की,
बस एक बार, मोहब्बत है, बोल दे वो मुझे,
गुजार दूं, जिंदगी, यादों में उसकी।।

देव
[09/06, 9:30 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

हसरतें कहीं अच्छी है मेरी, मुझसे
मुझसे ज्यादा, बसती है, वो उसमे।।

देव
[11/06, 1:34 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

फिलहाल खुदा भी मेरा,
मुझसे नाखुश सा लगता है,
नाम लेता हूं उसका,
निकलता किसी और का है।।

देव
[11/06, 1:36 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

लब्ज़ मेरे है कहा अब,
कहां जबान मेरी है,
मेरी नज्मों में लिखी,
हर बात उसकी है।।

देव
[11/06, 1:37 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

वक़्त भी तभी ठहराता है,
जब दिल ये, उसे याद करता है।।

देव
[11/06, 1:39 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

बेसबर सी जिंदगी में,
बेखबर से बैठे है वो,
क्या करे, क्या कहें,
उल्फत में बैठे है वो।।

देव
[11/06, 1:43 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

वो भी रुसवा, हम भी तन्हा,
ना जाने, साथ चलेंगे कब।।

देव
[11/06, 1:49 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

जाते जाते उसने,
ये क्या सजा दे डाली,
मुझसे मेरी लिखने की वजह
तोहफे में मांग डाली।।

देव
[11/06, 1:53 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

लिखती तो है, वो नाम मेरा,
अपने जेहन में कहीं,
यूं ही नहीं, पड़ती है नज़्में,
बोलती, कुछ भी नहीं।।

देव
[12/06, 7:07 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

हकीकत को बदलने की चाहत में,
वो खुद बदल गए,
शिकायत करते करते जमाने की,
तन्हा रह गए।।
[12/06, 7:07 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

जिंदगी आती है, चुप चाप सी,
दस्तक दिए बिना,
और वो, शोर ए जमाने में,
खोए रह गए।।

देव
[12/06, 7:09 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

जब नजदीक थे,
तो ना वक़्त की अहमियत थी,
ना जिंदगी की।।

देव
[12/06, 10:02 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

उपलब्धि का स्तर नहीं होता,
कोई छोटा या बड़ा नही होता,
शाबाशी, शाबाशी होती है,
उसका कोई मोल नहीं होता।

My first award, for poetry…

Dev

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s