यकीं कर, एक दिन, मुझे ही पाएगी

तेरी महफ़िल में, जो खाली है, एक जगह,
यकीं कर, एक दिन, मुझे ही पाएगी।

माना, बाहें बहुत मिल जाएंगी, तुझे,
चैन की नींद, मेरे आगोश में ही आएगी।

अश्क तेरे, यू ही ना, बहा रोने में,
काम आएंगे, जब, तू खिलखिलाएगी।

डर मत, कदम आगे तो बड़ा, क़दमों में,
तेरे हथेलियां मेरी, बिछ जाएंगी।

देव

Leave a Reply