कुछ जाम लगाए है!

सर्दी के बहाने, मैंने भी, कुछ जाम लगाए है,
क्या कैसे किससे कहें, दिन में भी, ख्वाब तेरे आए है।।
देव
31/01/2021, 11:07 pm

Leave a Reply