कहानी

दो अश्क ही सही, काश बह जाते,
मेरी दास्तां को वो, कहानी ना कह जाते।।
देव
25/02/2021, 12:08 am

Leave a Reply