Confusion

लडकियां सही है, जो चाहती है,बड़ा, क्लियर होता है,हम बन्दों की लाइफ में बड़ा कन्फ्यूजन होता है, साल, शुरुआत होते ही हो जाती है,जब हम लड़कियों की ड्रेस, पहनाई जाती है,और फिर क्या बनेगा, कुछ करले कह कर,हर रोज हमारी ली जाती है, सच कह रहा हूं, बड़ा प्रेशर होता है,जैसे, लास्ट मिनट में,टॉयलेट अंदर … Continue reading Confusion

राधा को असमंजस में पाऊ

बैर करू, कि प्रेम करू,राधा को असमंजस में पाऊ,कृष्ण चले, मथुरा की ओर,अब कैसे में समझाऊं, मैं तो सखी हूं, पर जानती इतना,विरह की बेला, अब आईं,कैसे राधा, रहेगी अब जब,कृष्णा नहीं, देख पाएगी, अश्रुधारा बह रही झर झरदिखती राधा, है कितनी बेबस,एक तरफ प्यार, है रोके उसको,कृष्णा का रूप, ना दिखता है उसको, हरी … Continue reading राधा को असमंजस में पाऊ

कृष्ण राधा संग रास रचावे

ठुमक ठुमक कर, कमरिया हिलावे,कृष्ण राधा संग रास रचावे, देखो, प्रभु, कैसी लीला दिखावे,गोपी बन, गोपी संग नाचे, प्रेम का एक, नया रूप दिखावे,राधा के प्रेम में, राधा बन जावें, श्याम रंग अब कैसे छिपावें,राधा से झट, पकड़े जावे, लख लख नए, बहाने बनावे,गोपियों से देखो, सजा भी पावें, प्रेम का जाल, कृष्ण बिछावें,प्रेम के … Continue reading कृष्ण राधा संग रास रचावे

Random thoughts Apr- 2020

[01/04, 10:56 am] Dev… Devkedilkibaat.Com: वो कहते है, ये फ़ैमिली रियूनियन का वक़्त है,मगर इंटरनेट क्यूं ठप है।। [03/04, 3:15 am] Dev… Devkedilkibaat.Com: इक इक मनका, नाम तेरा,हर सांस में है, तेरी आस,मिल जावे तू, गर जो मुझको,पूरी हो, मेरी जन्मों की प्यास।। [04/04, 7:41 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com: समझाओ उन्हें, खुदा पत्थर ही में नहीं,दिल … Continue reading Random thoughts Apr- 2020

तुमसे प्यार भी करता हूं

तुमसे प्यार भी करता हूं,और तुमसे डरता भी हूं,डरता यूं हूं कि कहीं,मेरी कोई बात,तुम्हें दुख ना पहुंचाए,और तुम हो ही इतनी प्यारी,हर किसी को मोहब्बत हो जाए।। देव

बता तेरा कहां है, आशियाना

चांदनी सा शीतल, तेरा रूप,खो जाए जहां, पल में यूं, भुला दे गम हजार, चुटकी मेंनजर तुझपे पड़े, जो कुछ पल में, निर्मल जल सा है, तेरा आना,खुदा की दुआओ का, साथ लाना, तेरी वो मद्धम में गुनगुनाना,हवा का, तेरी ताल पे, बहते जाना, जहां कौनसा है, जरा बताना,बता तेरा कहां है, आशियाना।। देव

धड़कने तेरे दिल की, सुन सकता हूं मैं,

धड़कने तेरे दिल की,सुन सकता हूं मैं,तेरे आंसू, जो ना बहेदेख सकता हूं मैं, तेरे ख्वाबों में, बसी तस्वीर,उकेर दूं, कागज पर पल में,तेरे अरमानों की कश्ती,खींच सकता हूं मै, तेरी पाना, नहीं है,जुनून मेरा,तेरे दिल में, मोहब्बत मेरी,भर सकता हूं मैं।। देव

मोहब्बत मेरी, उसकी ही, इक इबादत है।

माना तुझसे मैंने,मोहब्बत की है,ऐसी कौनसी मैंने,गलती की है,तेरी अदा, तेरे अंदाज़,पर हूं मैं फिदा,तुझसे, बस तेरी,मोहब्बत की ही,सिफारिश की है, माना, है ख्वाब तेरे,तेरी ये जिंदगानी है,तुझे चाहने वालो की,बहुत कहानी है,ये दिल तुझ पर आ गया,क्या कसूर मेरा,तुझसे चाहता हूं बस,मैं, दिल ये तेरा, माना, मैंने भी ठोकरें,जहां की खाई है,तभी मुझको, समझ,अब … Continue reading मोहब्बत मेरी, उसकी ही, इक इबादत है।

कुछ पल की, मुलाक़ात ही काफी है

कुछ पल की,मुलाक़ात ही काफी हैबस वी पास हो,और रख के सिर अपना,पहलू में तेरे,बैठा रहूं,तेरे मखमल से हाथो को,थाम हाथो में अपने,पूरे जहां की मोहब्बत,लुटा तुझ पर दू,कुछ पल में,मोहब्बत तुझे दू,उमर भर की,तेरे चेहरे की शिकन,अपने माथे पर लू,तू बस, इक बारइश्क़ मुझ से कर ले,तमाम उम्र, तेरे पहलू में,गुजार मैं दूं। देव

दियो में लौ जलाने का है।।

कब तक इसे अंत मानोगे,ये तो नई शुरुआत है,पुरानी पीढ़ी के लिए सीख,नई के लिए, नया अध्याय है, ये वक़्त सीखने का है,भुलाने का नहीं,साथ आने का है,छोड़ कर जाने का नहीं, अनजान राहों पर अपने,ढूंढने वाले मुसाफिरोंअब वक़्त घरों में रखे,दियो में लौ जलाने का है।। देव

सच तो सच है

सच तो सच है, मैं कैसे छोड़ दू,क्यूं इक झूठ की खातिर,खुद से ही रिश्ता तोड़ दूं,इश्क़ है सच्चा, तो अपनाएगी,वो सच सुनकर ही,झूठ की नींव पर रखे रिश्ते,कुछ पल में, दम तोड देते है।।देव

घड़ी कब तक चलेगी

घड़ी कब तक चलेगी,जाने कब रुक जाएगी,सांसों की लय, ना जाने,कब मध्धम पड़ जाएगी,मगर, एक बात तो,तय है यारो,जब भी, मोहब्बत का नाम,लिया जाएगा,किसी की जुबान पर,हमारा नाम, जरूर आएगा।। देव

मुकाम ए मोहब्बत कुछ और होगा।।

क्या होगा, गर आग के दरिया में कूद जाएंगे,मोहब्बत को खुद ही रुसवा कर जाएंगे,मोहब्बत है, तो मोहब्बत की,खुशी को समझो जरा,मजबूरी उसकी भी होगी,नहीं वो पास यहां,मोहब्बत है तो, बसमोहब्बत करके दिखलाओ,उसके दर्द को, अपना जरा बनाओ,फिर अहसास कुछ और होगा,मुकाम ए मोहब्बत कुछ और होगा।। देव

यकीं करो, प्यार तुम्हे भी हो सकता है।।

दिल की आवाज, दिल ही सुन सकता है,प्यार सुकून है,प्यार जिंदगी है,प्यार चेहरे की हसीं है,प्यार एक यकीं है,प्यार सागर है,प्यार गागर है,कोई कैसे, प्यार से यूं दूर रह सकता है,यकीं करो, प्यार तुम्हे भी हो सकता है।। देव

थोड़ा मुस्कुरा लो।

थोड़े वो अधूरे, थोड़े हम अधूरे,कहा होते है इस जहां में,सबके ख्वाब पूरे, अधूरे ख्वाबों को मिला कर,एक पूरा जहां बसा लो,यूं ही ना रहो तन्हा यारो,थोड़ा मुस्कुरा लो।। देव

पास ना होकर भी, कितने करीब है

कुछ पल ही सही, बड़ी अच्छी नींद आई,जैसे, पतझड़ में, बहार ने , ली अंगड़ाई, उसके आगोश में घुस कर सोया था,वो तो नहीं थी, पर उसके ख्वाबों में खोया था, दिल बड़ा बैचैन था, अब सुकून है,वो पास ना होकर भी, कितने करीब है।। देव

कब रिश्ते गुमशुदा हो गए

पहले जो हम हुआ करते थे,वो अब मैं हो गए,पता ही नहीं चला कब,रिश्ते गुमशुदा हो गए।। मिसालें देता था जमाना, जिनमुसाफिरों की, वो राहें बदल, खो गएपता ही नहीं चला,कब रिश्ते गुमशुदा हो गए, खोखली कर, अपनी ही बुनियाद,घर मकान, मकान खंडहर हो गए,पता ही नहीं चला,कब रिश्ते गुमशुदा हो गए, देव

इस जमीं की, तू अप्सरा है।।

तेरी ये मंद मंद मुस्कुराहट,देती है, दिलो पर दस्तक, और कांधे पर, झूलते ये बाल,कर देते है, कितनो का, हाल बेहाल, खुदा से क्या पूंछू, खास क्या है,तेरे लिबास का, अंदाज जुदा है, और ये, रोशनदान से, झांकता सा लाल रंग,छुपी इसमें भी कहीं, तेरी अदा है।। लोग कहते है, तू इंसान है,सच कहूं, इस … Continue reading इस जमीं की, तू अप्सरा है।।

इस बार नहीं रोका मैंने

इस बार नहीं रोका मैंने।। वो जाने लगा, नहीं टोका मैंने,इस बार नहीं, रोका मैंने, यूं तो, निकाह उससे, किया मैंने,शर्तों पर उसकी, हां कहा मैंने,संग उसके रही, प्रियतम बन कर,मजबूरी थी, विश पिया मैंने, इस बार नहीं रोका मैंने, यूं तो, काफी थी, गलतियां की,हक से बढ़ कर, उसकी इच्छा थी,अभिलाषा नहीं, वो लालच … Continue reading इस बार नहीं रोका मैंने

हां, इश्क़ तो है उससे

हां, इश्क़ तो है उससे,मगर बोलने से डरता हू,कुछ तो होंगे, ख्वाब उसके,तोड़ने से डरता हू, यूं तो वो भी समझती है,मगर चुप रहती है,शायद, मेरे कुछ बोलने का,इंतेज़ार वो करती है, देव