कुछ कदम साथ चलेंगे,

कदम कुछ साथ चलेंगे,
तो कदम मिलंगे,
यूं ही नहीं सफर,
जिन्दगी के गुजरेंगे।
सवाल लाख हो पास,
अक्सर जवाब करीब होता,
ज़हन हो हावी जब,
कभी प्यार नहीं है होता।
थाम हाथ में हाथ,
कुछ वक्त गुजारो साथ,
दिल से दिल बतियाते है तो,
नहीं लब्जों का काम है होता।
देव
24/01/2021, 10:32 am

Leave a Reply