अभी भी खाली है, तेरी जगह बगल में..

It’s for my friend.. who lost his love few months back… And today is birthday of his son…

आज फिर, तेरी तस्वीर मैंने निकाली
अपनी यादों के एल्बम से
वहीं जब थी तू मुस्कुरा रही थी
अपने सितारे के शुभ दिन पे

यकीन नहीं होता, नहीं होगी
तू सामने मेरे फिर यूं ही
पर महसूस कर रहा था तुझे आसपास
जब मना रहे थे जश्न तेरी परछाई का

देख, कहीं कुछ कमी तो नहीं
रखी मैंने, परवरिश में उसकी
तू नहीं, अब मैं ही कर रहा हूं
कमी पूरी तेरे ख्वाबों की

खोलता हूं दरवाजा, हर आहट पे
तेरी दस्तक समझ कर
क्या पता, कब तू आ जाए
अभी भी खाली है, तेरी जगह बगल में

देव

2 thoughts on “अभी भी खाली है, तेरी जगह बगल में..

  1. Abhi Jabalpur men ek Jain parivar badi mushkilon ka saamna kar raha hai, parivar ek road accident ki trasadi ko jhel raha hai, aapki rachna mujhe aisa laga mano unhi k liye likhi hai….🙏🙏

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s