Random

[21/10, 10:50 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

तेरी मुस्कुराहट ही काफी है ,
हाल ए दिल तेरा बताने को,
ना बहा अनमोल आंसू तू अपने,
बचा इन्हे खुशियां जताने को।।

देव
[22/10, 1:52 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

कुछ कदम ही सही, साथ तुम तो चलो,
हाथ में हाथ ले, साथ तुम तो चलो,
तन्हा मैं हूं यहां, तन्हा तुम भी तो हो,
छोड़ रस्में रिवाज को, वक़्त कुछ गुज़र लो।।

देव
Devkedilkibaat.com
[22/10, 2:00 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

तेरे हुस्न ने, आज क्या जादू चलाया,
चांद शर्मा के छिप गया,
सितारों ने तेरा बदन, है सजाया,

देव
[22/10, 9:45 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

नहीं ख्वाहिश है जन्नत की,
ना बेशुमार दौलत की,
खुदाया, पल कुछ दे दे,
यार हम चार मिल जाए।।

देव
[22/10, 9:05 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

आरजू ए वस्ल, ना छोड़ना तू,
अरमां अपने, जवां रखना तू,
इश्क़ सच्चा है, गर तेरा,
वो मिलेगा इक दिन, देखना तू।।

देव

[23/10, 1:02 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

कुछ नई सी लगती है,
क्या, तू बदल सी गई है,
कल तक, परेशान सी दिखने वाली,
आज, मस्त हवा सी झूमती है,
कुछ तो है, जो नया है, शायद
तेरी जिंदगी को, मिला नया जज्बा है।

देव
[23/10, 9:43 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

यही तमन्ना है, तेरे वजूद में ढल जाऊं,
खुदा से दुआ यही है,
तेरा मैं आइना बन जाऊं।

देव

बांतो के अलावा, और भी बहुत कुछ है यहां,
कभी सामने बैठो, देखो, वक़्त कैसे गुजरता है।।

देव

बस, आंखो से ही, तूने कितना कह दिया,
पल में, हाल ए दिल, बयां कर दिया,

और आंखें ही, काफी है तेरी, दीवाना बनाने को,
ना हटा, पर्दा चेहरे से, क्यों आमादा है तू, जलजला लाने को।।

देव

[27/10, 11:15 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

आज मैंने दर्पण देखा,
प्रतिबिंब अपना देखा,
मैं मुझसे भी खूबसूरत नजर आईं,
रत्ती भर भी ना ईर्ष्या आईं,

देव
[27/10, 11:20 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

तुम हो तो मैं हूं, तुम मेरा अस्तित्व हो,
तुम बिन मैं कहा, तुम ही मेरा व्यक्तिव हो।

देव

[27/10, 11:15 am] Dev… Devkedilkibaat.Com:

आज मैंने दर्पण देखा,
प्रतिबिंब अपना देखा,
मैं मुझसे भी खूबसूरत नजर आईं,
रत्ती भर भी ना ईर्ष्या आईं,

देव

[28/10, 4:17 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

तेरे हर टुकड़े पर, कुर्बान दिल हजार,
बेकार है जिंदगी उसकी,
जो तुझे चाहे ना, एक भी बार।।

देव
[28/10, 4:17 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com:

उमर कुछ ही तो गुजरी है,
ये सफेदी, जरा अच्छी है,
दिखता है, तजुर्बा है तुझको,
मोहब्बत निभाने का।।

देव
[28/10, 4:17 pm] Dev… Devkedilkibaat.Com: तेरे इश्क़ की कसमें, खाते है आशिक़ यहां,
तू इश्क़ है, किसी का, करते है फिर भी तुझसे प्यार।।

देव

लगता है, हुजूर इश्क़ को समझ नहीं पाए,
या आपने है, मोहब्बत में अपने हाथ जलाए,
इश्क़ तो अकीदत है,
जब होता है, सब हसीन होता है
और ना भी हो, किसी से,
तो खुद में ही मागशूल होता है।

देव

Leave a Reply