माना कि हम सिंगल है,

माना कि कोई साथ नहीं,
तो क्या पीना छोड़ दें,
माना कि हम सिंगल है,
तो क्या जीना छोड़ दें।।

कोशिश तो पूरी की थी,
फिर भी बहुत कुछ छूट गया,
बचाने को कुछ रिश्तों के,
बहुत कुछ वक़्त ने लूट लिया,
नए दोस्त है नई दिशा,
नया हमारा संसार है,
कुछ लोगों को दिक्कत है
तो क्या मिलना छोड़ दे।

माना कि हम सिंगल है,
तो क्या जीना छोड़ दें।।

करना था तब इश्क़,
तो इश्क़ भी हमने बहुत किया,
जब दिल टूटा, साथ था छूटा,
नफ़रत का ना फिर भी, साथ दिया।
इंसान है हम, दिल भी है,
दिल तो दिल है, लगना है,
दिल टूटा इक बार हमारा,
तो क्या प्यार करना छोड़ दे।

माना कि हम सिंगल है,
तो क्या जीना छोड़ दें।।

देव

04/11/2020, 1:52 pm

Leave a Reply