ज़रा मुखातिब हो!

ज़रा मुखातिब हो मुझसे, पल भर को सही,
वक्त तेरा, ना बदल दूं, तो कहना।
इश्क़ मुझसे है कह दे, इक बार सही,
तम्राम उम्र, तेरे नाम ना कर दू, तो कहना।
जिक्र मे आया हूंँ, अरसो बाद तेरे,
रूह तेरी, अपनी ना बना दूं, तो कहना।
फिक्र है तुझको, मेरी कहती है नजर तेरी,
बेफिक्र तुझे ना बना दूं, तो कहना।।
देव
03/02/2021, 1:12 pm

Leave a Reply