मैं भी तो हूंँ जिद् दी

वक्त के साथ, बहुत कुछ छूटा,
मगर, मैं भी तो हूंँ जिद्दी,
कुछ गर छूट भी गया,
तो पाया भी तो बहुत है,
जिन्दगी है, इसे जाना भी बहुत है।।
देव
04/02/2021, 3:06 pm

Leave a Reply