बेनाम कुर्बान शहीद

वो, जो देश की खातिर बेनाम कुर्बान हो गए, उन शहीदों के नाम..

मेरे आज को, मेरा बना गए वो,
हंसते हंसते, हर कतरा बहा गए वो,
मैं कैसे चुकाऊं, अहसान उनका,
ना जिक्र अपना, पन्नों में छोड़ गए जो।।

देव

16/08/2020, 10:45 pm

Leave a Reply