एक तोहमत दी है।

एक बार फिर से, उसने
मुझसे दोस्ती की है,
इक बार फिर से, उसने
दोस्ती पर, एक तोहमत दी है।

एक बार फिर से, उसने
तारीफें मेरी, मुझसे की है,
इक बार फिर से, उसने
जमाने को, मेरी बदनामी दी है।

देव

09/09/2020, 10:39 am

Leave a Reply