सांझ सा हुस्न, तूने पाया है,

सांझ सा हुस्न, तूने पाया है,
रात को बालों में सजाया है,

हल्की सी मुस्कान, चेहरे की तेरी,
देख, कितनो का रास्ता, भुलाया है,

नजरो से एक नजर, देखा तूने,
खुदाया, हर दिल, तुझपे आया है।।

देव
Devkedilkibaat.com

Leave a Reply